Posted in Uncategorized

An Open letter from an intellectual to all his interns

दोस्तों, अजीजों एवं प्यारे प्यारे भतीजों, इंसानियत का दुश्मन मोदी देश को आगे ले जाने का प्रयास कर रहा है, हमलोगों ने देश की तरक्की में पलीता लगाने के लिए जो कुर्बानियां दी थीं, वो जाया होती दिखाई दे रही हैं, लेकिन हम हार नहीं मानेंगे, हमारे प्रौढ़ साथी राजदीप ने एक वाट्सऐप मैसेज में कहा है कि मोदी ने GST लाकर एक देश एक टैक्स की दिशा में जो कदम उठाए हैं, उसके विरोध में अब हम हल्ला बोलेंगे, उनका संदेश है कि कोई भी कौमी-कांग्रेसी किसी भी दुकान से ऐसा कोई सामान नहीं खरीदेगा जिसपर GST लगा हो, कोई भी कौमी- कांग्रेसी GST की रिटर्न नहीं भरेगा. यहाँ तक कि जिन साथियों ने आधार और पैन लिंक करा दिए हैं वो इन दोनों चीजों को आग लगा कर इस लिबरल क्रांति को ऊर्जा दें. 

इस असहयोग आंदोलन से ईर्ष्या के कारण अगर कोई राह से भटका हुआ सरकारी कर्मचारी हम पर जुर्माने के लिए दबाव डालता है, तो पर हम उसे पहले Scroll और Wire जैसी वेबसाइट्स के एक एक आर्टिकल पढ़ने को देंगे. यदि उसके बाद भी उसके ब्रेन में सेल्स बचे रहते हैं और वो लिब्रलिज़्म की दीक्षा लेने से इनकार कर देता है, तो आखिरी चारे के रूप में हर लिबरल, ऋषि विश्वामित्र का यज्ञ भंग करने का प्रयास करने वाली अप्सरा मेनका का रूप धर लेगा और उसे वो थ्री इडियट वाला तोहफा क़ुबूल करने को मजबूर कर देगा, कुछ भी हो जाये न हम टैक्स देंगे लेंगे और न ही रिटर्न भरेंगे, क्योंकि आसमानी किताब में कहीं भी ऐसा करने का जिक्र नहीं है. हमारा फिदायीन दस्ता देश की वाट लगाने को एकदम तैयार है.

जीवे जीवे लिबरलिस्तान

Advertisements

Author:

Nothing special

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s